RSS Feed

Daily Archives: February 20, 2012

दोस्त

Posted on

क्या क्या हमने खोया होता, जो हम कभी ना मिलते
यादों के जो फूल खिले हैं वो फिर कभी न खिलते

कितनी खुशियाँ बांटी हमने दुःख भी साथ सहे हैं
कितने तनहा रह जाते जो तुम न हमको मिलते

जितना जाना,जितना समझा वो क्या कम था वरना
तुम्हें समझ पाने की हसरत दिल में ले कर मरते

वो तो किस्मत अच्छी थी जो तुमसे दोस्त मिले हैं
वरना तुमसे दोस्त बड़ी किस्मत वालों को मिलते

 

(

Friends in need are friends indeed

mere apne,jo mere dost bhi hain unke naam hai yeh kavita)

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 782 other followers